ताशकन्द समझौता क्या है ?

उत्तर – भारत – पाक युद्ध विराम के बावजूद युद्ध क्षेत्रों में झड़पें बन्द नहीं हुई थी । इस स्थिति को समाप्त करने के लिए सोवियत संघ ने विशेष रूचि ली । सोवियत संघ ने दोनों पक्षों को वार्ता के लिए ताशकन्द आमन्त्रित किया । 4 जनवरी , 1966 को पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खाँ तथा भारत के प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के मध्य ताशकन्द में वार्ता आरम्भ हुई । अंततः 19 जनवरी , 1966 को ऐतिहासिक समझौते पर दोनों पक्षों ने हस्ताक्षर किए , जिसे ताशकंद समझौता कहते हैं । 

 

Leave a Comment