भारत में बेरोजगारी के कारणों को दूर करने के उपायों का वर्णन कीजिए ?

उत्तर- भारत में बेरोजगारी को दूर करने के उपाय निम्नलिखित हैं-

 

1. जनसंख्या वृद्धि पर नियन्त्रण- 

जनसंख्या वृद्धि पर नियन्त्रण करना चाहिए । इससे श्रमिकों की पूर्ति – दर में कमी आएगी । रोजगार के अवसर बढ़ाने के साथ यह भी अति आवश्यक है । 

 

2. लघु और कुटीर उद्योगों का विकास- 

ये उद्योग ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्थापित हैं तथा अंश कालीन रोजगार प्रदान करते हैं । इनमें पूँजी कम लगती हैं और ये परिवार के सदस्यों द्वारा ही संचालित होते हैं । इनके द्वारा बेकार बैठे किसान और उनके घर के सदस्य अपनी क्षमता , श्रम , कला – कौशल और छोटी – छोटी जमा राशि का उपयोग कर अधिक आय और रोजगार प्राप्त कर सकते हैं । अतः सरकार को इनके विकास के लिए पूँजी उपलब्ध करानी चाहिए । 

 

3. व्यावसायिक शिक्षा- 

देश की शिक्षा पद्धति में परिवर्तन की आवश्यकता हैं । हमें शिक्षा को रोजगार उन्मुख बनाना है । हाईस्कूल पास करने के बाद छात्रों को उनकी रूचि के अनुसार व्यावसायिक शिक्षा चुनने के लिए जोर देना चाहिए । इससे शिक्षा प्राप्त करने के बाद वे व्यवसाय से जुड़ सकेंगे और देश में बेरोजगारी की समस्या हल हो सकेगी । 

 

4. विनियोग में वृद्धि- 

सार्वजनिक क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर पूँजी का विनियोग कर बेरोजगारी दूर की जा सकती है । निजी क्षेत्र में बड़े उद्योगों को प्रोत्साहन देना चाहिए , जो कि श्रम प्रधान हो । इससे लोगों को रोजगार मिलेगा । बड़े – बड़े उद्योगों में पूँजी गहन तकनीक पर नियन्त्रण रखना चाहिए , क्योंकि उनमें बड़ी बड़ी मशीनों का उपयोग किया जाता है और मानव – श्रम कम लगता है । इससे बेरोजगारी बढ़ती है ।

 

Leave a Comment