साम्प्रदायिकता से क्या आशय है ?

उत्तर- राष्ट्रहित को भुलाकर एक पंथ या सम्प्रदाय विशेष के प्रति निष्ठा रखना व अन्य पंथ व सम्प्रदार्यों के प्रति घृणा का भाव रखना ही ‘ साम्प्रदायिकता ‘ है । 

 

Leave a Comment