भारत में बेरोजगारी के प्रकार समझाइए ?

उत्तर- भारत में बेरोजगारी दो प्रकार की होती है- 

( 1 ) शहरी बेरोजगारी 

( 2 ) ग्रामीण बेरोजगारी । 

 

1. शहरी बेरोजगारी – 

बड़ी संख्या में शिक्षा प्राप्त कर लोग बेकार बैठे रहते हैं । इससे शिक्षित बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है । ग्रामीण क्षेत्रों से जनसंख्या शहरों की ओर जा रही हैं । मशीनीकरण व आधुनिकीकरण के कारण अवसरों की संख्या कम है । इससे औद्योगिक श्रमिकों में निरन्तर बेरोजगारी बढ़ रही है । 

 

2. ग्रामीण बेरोजगारी- 

कृषि क्षेत्र में वर्ष भर कार्य नहीं रहता । छह माह कृषक बेकार रहते हैं । पूंजी का अभाव होने के कारण कुटीर उद्योगों का विकास नहीं हो पाया है । उन्हें वर्ष भर कार्य नहीं मिल पाता और उनकी कमाई में बढ़ोतरी नहीं हो पाती । 

 

Leave a Comment