भारत में आतंकवाद के रूपों का वर्णन कीजिए ?

उत्तर- भारत में आतंकवाद के निम्नलिखित रूप हैं- 

 

1. साम्प्रदायिक आतंकवाद- 

जम्मू कश्मीर में चल रहा आतंकवाद इसका उदाहरण है । कश्मीर घाटी में धर्म के नाम पर हत्या , अपहरण , लूटपाट करना और शान्ति व्यवस्था भंग करना इनका उद्देश्य है । कश्मीर में सीमापार से आ रहे आतंकवादी धर्म के पर आतंक फैला रहे हैं । वर्ग विशेष की सम्पत्ति को लूटकर उन्हें घर छोड़ने पर मजबूर कर दिया है । कश्मीर में इनकी आतंकी गतिविधियाँ निरन्तर चल रही हैं । इसके कारण भारत और पाकिस्तान में तीन बार युद्ध भी हो चुके हैं । 

 

2. नक्सली आतंकवाद- 

भारत में नक्सलियों की गतिविधियाँ शान्ति और व्यवस्था भंग कर रही हैं । इनका उपद्रव पश्चिम बंगाल के एक गाँव नक्सलवादी से हुआ है । इस कारण इसे नक्सलवाद कहा गया । ये हत्या , अपहरण , वसूली , लूटपाट के माध्यम से आतंक फैलाते हैं । आन्न , छत्तीसगढ़ , प . बंगाल आदि प्रदेशों में इसका फैलाव हो रहा है । ये मार्क्स और माओं की विचारधारा के अनुयायी है । –

 

3. जातीय आतंकवाद- 

उत्तर – पूर्वी राज्यों में जन – जातियों और गैर जनजातियों के आपसी मतभेद प्रजातीय आतंकवाद के रूप में उभरकर आये हैं । ये जातियाँ आपस में निरन्तर लड़ती रहती हैं । ये देश की एकता और अखण्डता को खतरा उत्पन्न कर रही हैं । 

 

Leave a Comment