अर्थव्यवस्था के प्राथमिक एवं द्वितीयक क्षेत्र को उदाहरण की सहायता से समझाइए ।

उत्तर- 

अर्थव्यवस्था का प्राथमिक क्षेत्र- 

प्राकृतिक संसाधनों पर प्रत्यक्ष रूप आधारित गतिविधियों को प्राथमिक क्षेत्र ‘ कहा जाता है । जैसे- कृषि , वन , पशुपालन , खनिज , मछली पालन आदि प्राकृतिक क्षेत्र में आते हैं । उदाहरण के लिए , कृषि प्राथमिक क्षेत्र है , क्योंकि फसल उत्पादन के लिए मुख्यतः प्राकृतिक कारकों , जैसे – मिट्टी , वर्षा , सूर्य का प्रकाश , वायु आदि पर निर्भर रहना पड़ता है । 

 

अर्थव्यवस्था का द्वितीयक क्षेत्र – 

द्वितीयक क्षेत्र वह क्षेत्र है , जिसमें प्राकृतिक उत्पादों को विनिर्माण प्रणाली के माध्यम से अन्य रूपों में परिवर्तित किया जाता है । जैसे- मशीन निर्माण , सीमेन्ट निर्माण , कपड़ा निर्माण आदि । उदाहरण के लिए- मशीन निर्माण को द्वितीयक क्षेत्र में शामिल किया जाता है , क्योंकि प्राकृतिक उत्पाद लोहे पर विनिर्माण क्रिया कर उसे मशीनों में परिवर्तित किया जाता है । 

 

Leave a Comment