भारत में वस्त्र उद्योग के वितरण पर एक लेख लिखिए ?

उत्तर -1. महाराष्ट्र- 

वस्त्र उत्पादन में भारत में महाराष्ट्र प्रथम स्थान पर है । यहाँ सूती वस्त्र की कुल 119 मिलें हैं , जिनमें से 101 में कताई और बुनाई दोनों कार्य किए जाते हैं । शेष 18 मिल केवल सूत कताई का कार्य करती हैं । मुम्बई यहाँ का प्रमुख औद्योगिक केन्द्र है । यहाँ 54 सूती वस्त्र मिल हैं । इस राज्य में सूती बस्त्र के अन्य केन्द्र शोलापुर , पुणे , नागपुर , वर्धा , अमरावती , अकोला , औरंगाबाद आदि स्थानों पर हैं ।

 

2. गुजरात – 

इसका दूसरा स्थान है । यहाँ के 118 मिलों में से 24 कताई – बुनाई की तथा 24 कताई की मिले हैं । अहमदाबाद इस राज्य का ही नहीं , बल्कि सम्पूर्ण देश का सर्वश्रेष्ठ ‘ सूती व औद्योगिक केन्द्र है । इस नगर में 69 मिलें हैं । इस राज्य में अन्य सूती वस्त्र उद्योग के केन्द्र बड़ोदरा , भरूच , सूरत , भावनगर , राजकोट आदि हैं । 

 

3. तमिलनाडु- 

सूती वस्त्र उत्पादन में यह राज्य देश में तीसरे स्थान पर है । यहाँ इस उद्योग की छोटी – छोटी मिलें हैं , जिनकी संख्या 439 है । अधिकांश मिलें सूत कताई का कार्य करती हैं । इस राज्य में इस उद्योग की स्थापना का श्रेय विद्युत उत्पादन को है । कोयम्बटुर यहाँ का प्रमुख सूती वस्त्र उद्योग का स्थान है , जिसे दक्षिण भारत का ‘ मेनचेस्टर ‘ कहा जाता है । राज्य में अन्य केन्द्र मदुरई , चेन्नई , तिरुन्नवैली , सेलम , पेराम्बूर आदि हैं । इनके अलावा पश्चिम बंगाल में हावड़ा और श्रीरामपुर प्रमुख केन्द्र हैं । उत्तर प्रदेश में कानपुर राज्य का सबसे बड़ा सूती वस्त्र उद्योग केन्द्र है , जिसे उत्तर भारत का ‘ मेनचेस्टर ‘ कहा जाता है । अन्य केन्द्र वाराणसी , आगरा , हाथरस , मुरादाबाद , रामपुर , लखनऊ आदि हैं । मध्यप्रदेश में प्रमुख सूती वस्त्र उद्योग के केन्द्र ग्वालियर , इन्दौर , उज्जैन , सतना , जबलपुर , भोपाल , रतलाम तथा देवास हैं । कर्नाटक में मैसूर , बेंगलूर , मंगलौर , बल्लारि तथा चित्रदुर्ग हैं । आन्ध्रप्रदेश में हैदराबाद , बारंगल , गंटूर , सिकन्दराबाद , केरल में कणान्नूर , तिरूवनंतपुरम , अनन्तपुर तथा राजस्थान में जयपुर , किशनगढ़ , भीलवाड़ा , अजमेर प्रमुख केन्द्र हैं । 

 

Leave a Comment