भारतीय दूरदर्शन सेवा का वर्णन कीजिए ।

उतर- भारत में टेलीविजन सेवा का नियमित प्रसारण 1965 से प्रारम्भ हुआ । सन् 1976 में इसे आकाशवाणी से पृथक् कर दूरदर्शन नामक अलग संगठन बनाया गया । अब देश की लगभग 87 प्रतिशत से अधिक जनता 1042 स्थल ट्रांसमीटरों के माध्यम से दूरदर्शन के कार्यक्रम देख सकती है । कार्यक्रम तैयार करने वाले केन्द्रों की संख्या 20 है । 1976 में विज्ञापन सेवा प्रारम्भ की गई । 1982 से दूरदर्शन ने रंगीन कार्यक्रमों का प्रसारण प्रारम्भ कर दिया । डी.डी. 1 एवं डी.डी. 2 दिल्ली से प्रारम्भ किये गये । तत्पश्चात् 11 क्षेत्रीय भाषाओं के उपग्रह चैनल शुरु किये । फरवरी 1987 से दूरदर्शन की प्रातःकालीन सभा शुरु हुई 1 26 जनवरी , 1989 से दोपहर की सेवा प्रारम्भ की गई । इस प्रकार दूरदर्शन की तीनों सभाएं संचालित करके सभी वर्गों के लिए कार्यक्रम प्रसारित हो रहे हैं । खेल सम्बन्धी गतिविधियों के लिए डी.डी. स्पोर्ट्स चैनल , गुणवत्तायुक्त शिक्षा तक पहुँच बनाने हेतु सन् 2000 में डी.डी. ज्ञान दर्शन शैक्षिक चैनल आरम्भ किया गया । अन्तर्राष्ट्रीय दर्शकों को भारतीय सामाजिक , सांस्कृतिक , राजनीतिक एवं आर्थिक क्षेत्रों में नई जानकारी देने हेतु डी.डी. इंडिया चैनल प्रारम्भ किया गया है । दूरदर्शन के अनेक निजी चैनल भी हैं । 

 

Leave a Comment