रासायनिक आपदाएँ क्या हैं ? प्रमुख रासायनिक आपदाओं के उदाहरण देते हुए रोकथाम के उपाय बताइए ।

उत्तर- प्रौद्योगिकी के बढ़ते कदमों ने रसायनों के प्रयोग पर बल दिया है । रसायनों के प्रभाव से उत्पन्न जहरीली गैसों के रिसाव से होने वाली आपदाएँ रासायनिक आपदाएँ कहलाती हैं । 

 

उदाहरण के लिए- ( 2-3 दिसम्बर , 1984 ) भोपाल में घटने वाली अभी तक की सबसे विनाशकारी औद्योगिक – रासायनिक आपदा है । यह त्रासदी एक प्रौद्योगिकी घटना का परिणाम थी । इसमें हाइड्रोजन , साइनाइड तथा अन्य अभिकृत उत्पादों सहित 45 टन मिथाइल आइसो साइनाइट ( एमआईसी ) नामक अत्यन्त जहरीली गैस यूनियन कार्बाइड के कीटनाशक कारखाने से रात लगभग 12 बजे रिसी और हवा के साथ बह गई । सरकारी आंकड़ों के अनुसार इससे लगभग 3600 लोग मरे और अनेक रोगग्रस्त हो गए । 

 

रासायनिक आपदाओं की रोकथाम हेतु निम्नलिखित उपाय हैं- 

( 1 ) खतरनाक रसायनों के उपयोग , भंडारण तथा बचाव के तरीके से सम्बन्धित जानकारी साल भाषा में नागरिकों तक पहुँचाना चाहिए । 

( 2 ) रिहायशी क्षेत्रों को औद्योगिक क्षेत्रों से अलग एवं दूर रखा जाना चाहिए । औद्योगिक व आवासीय क्षेत्रों के मध्य हरित पट्टी होना चाहिए । 

( 3 ) दुर्घटना की स्थिति का मुकाबला करने की समझ . विकसित करने हेतु समय – समय पर नकली अभ्यास कराना चाहिए । 

( 4 ) अग्निरोधी चेतावनी प्रणाली मे सुधार करना चाहिए । 

( 5 ) जहरीले पदार्थों के भंडारण की क्षमता सीमित ही रखी जाए । 

( 6 ) उद्योगों के लिए बीमा और सुरक्षा सम्बन्धी कानून सख्ती से लागू होना चाहिए । 

 

Leave a Comment