टिप्पणी लिखिए- ( अ ) मंगल पाण्डे ( ब ) बहादुर शाह जफर ( द्वितीय )

उत्तर- 

( अ ) मंगल पाण्डे- 

मंगल पाण्डे एक सैनिक था , जो बैरकपुर ( बंगाल ) स्थित छावनी में पदस्थ था । 29 मार्च , 1857 को इस सैनिक ने चर्बी मिले कारतूसों को मुँह से काटने से स्पष्ट मना कर दिया व क्रोध में आकर अपने अधिकारियों की हत्या कर दी । फलस्वरूप उसे बन्दी बना लिया गया और 8 अप्रैल , 1857 को फांसी दे दी गयी । 

 

( ब ) बहादुरशाह ज़फर ( द्वितीय ) – 

बहादुरशाह ज़फर द्वितीय मुगल सम्राज्य के अंतिम बादशाह थे । 10 मई , 1857 ई . को मेरठ की सैन्य छावनी के सिपाहियों ने ब्रिटिश शासन के विरुद्ध संग्राम आरम्भ कर दिल्ली जीत कर सत्ता के नए प्रतीक के रूप में वृद्ध बहादुरशाह द्वितीय को भारत का सम्राट घोषित कर दिया । वृद्धावस्था के बावजूद बहादुरशाह ज़फर ( द्वितीय ) ने क्रान्ति का नेतृत्व इसलिए स्वीकार किया , क्योंकि क्रान्तिकारियों में व्याप्त देश भक्ति की भावना ने उनमें भी आशा का संचार किया था । उन्होंने क्रान्ति को व्यापक रूप देने के लिए पटियाला , ग्वालियर , काश्मीर आदि रियासत के शासकों और राजपूताना के राजाओं को व्यक्तिगत पत्र लिखकर संग्राम में भाग लेने को कहा । दिल्ली के समाचारों के कारण क्रान्ति का विस्तार अनेक स्थानों पर हुआ । इससे घबराकर लार्ड कैनिंग ने दिल्ली से ही क्रांति दमन का निश्चय किया । बहादुरशाह ज़फर ( द्वितीय ) की सेनाएँ अंग्रेजी फौजों से वीरतापूर्वक लड़ी परन्तु पराजित हुयीं । अंग्रेजों ने बहादुरशाह ज़फर को बन्दी बना लिया । उन्हें निर्वासित कर रंगून ( बर्मा ) भेज दिया गया । जहाँ 1862 ई . में बहादुरशाह द्वितीय का निधन हो गया । 

 

Leave a Comment