PSC का फुल फॉर्म क्या है | PSC Full Form in Hindi

आज के समय में सिविल सर्विसेज की नौकरी पाना हर युवा का सपना होता है लेकिन इस सपने को असल में साकार करने के लिए कड़ी तपस्या एवं मेहनत की आवश्यकता होती है लेकिन बहुत से ऐसे अभ्यार्थी भी हैं जिन्हें इस परीक्षा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी प्राप्त नहीं है इसीलिए आज हम इस आर्टिकल में बताएंगे कि पीएससी क्या है तथा इस सपने को साकार करने के अभ्यार्थियों को क्या करने की जरूरत है इसके अलावा हम जानेंगे कि पीएसी का फुल फॉर्म क्या है वैसे जानकारी के लिए बता दूं कि भारतीय संविधान के आर्टिकल 315 (1) के अनुसार संघ लोक सेवा आयोग आयोजित करने के लिए PSC की स्थापना की गई थी

PSC क्या है

PSC civil services की एक परीक्षा होती है जिसे राज्य लोक सेवा की परीक्षा भी कहते हैं इस परीक्षा के लिए अभ्यार्थी दिलों जान के साथ मेहनत करते हैं बता दूं कि PSC का फुल फॉर्म है Public Service Commission जिसे हिंदी भाषा में लोक सेवा आयोग के नाम से जाना जाता है PSC की परीक्षा राज्य द्वारा आयोजित की जाती है बता दूं कि इस परीक्षा को दो अलग-अलग स्तरों पर आयोजित की जाती है जैसे कि joint PSC state PSC

Joint PSC 

इस परीक्षा में दो या दो से अधिक राज्य आपस में मिलकर परीक्षा आयोजित कराते हैं और इस परीक्षा से जुड़े नियम इत्यादि दोनों राज्यों के परीक्षा बोर्ड आपस में मिलकर तय करते हैं|

इसे भी पढ़े –

• HR Full Form in Hindi – एच.आर का फुल फॉर्म क्या है?

• SSC Full Form in Hindi : एसएससी का फुल फॉर्म क्या होता है?

• Online Jobs :Students के लिए Online पैसे कमाने के 6 तरीके

State PSC

इसके अंतर्गत प्रत्येक राज्य अलग-अलग नियमों के साथ इस परीक्षा को अपने-अपने राज्यों में आयोजित कराते हैं जानकारी के लिए बता दूं कि इस परीक्षा में किसी भी अभ्यर्थी को भाग लेने का पूरा अधिकार है जानकारी के लिए बता दूं कि अलग-अलग राज्यों में इस परीक्षा को देने के अलग-अलग तरीके लागू किए गए हैं जैसे कि उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ राजस्थान की प्रारंभिक परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है लेकिन इसके अलावा बाकी राज्यों में ऐसा कोई नियम नहीं बनाया गया है

 

इसके अलावा बिहार राजस्थान में प्रारंभिक प्रश्न में एक ही प्रश्न पत्र यानी कि सामान्य अध्ययन से ही प्रश्न पूछे जाते हैं लेकिन मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में 2 प्रश्न पत्र होते हैं पहला सामान्य अध्ययन और दूसरे को Csat कहा जाता है बता दें कि झारखंड में भी दूसरा पेपर झारखंड के सामान्य ज्ञान का होता है यह परीक्षा राज्य प्रशासन की भर्ती के लिए किया जाता है

राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षा

 PSC यानी राज्य लोक सेवा की परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है बता दूं कि पहले दो चरणों में आपको लिखित परीक्षा क्वालीफाई करनी होती है यह दोनों चरण की परीक्षा ऑफलाइन ऑनलाइन दोनों ही तरीके से ली जाती है और तीसरे चरण में लिखित परीक्षा मैं क्वालीफाई होने वाले अभ्यार्थियों के लिए इंटरव्यू ली जाती है अंत में जो अभ्यार्थी इन तीनों चरणों की परीक्षाओं में उतर आते हैं उन्हें ही PSC या प्रशासनिक सेवा में नौकरी प्राप्त होती है

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

 जैसा कि मैंने बताया कि सभी राज्य मैं इस परीक्षा को लेकर अलग-अलग नियम लागू होते हैं किसी किसी राज्य में प्रारंभिक परीक्षा में केवल एक प्रश्न पत्र पूछे जाते हैं वही  कई ऐसे राज्य भी है जहां दो प्रश्न पत्र पूछे जाते हैं इस परीक्षा में आपसे अधिकतर सामान्य ज्ञान से ही प्रश्न पूछे जाते हैं जिनमें ऑब्जेक्टिव तरह के प्रश्न होते हैं यानी कि आपको एक प्रश्न के चार विकल्प दिए होंगे जिनमें से सही विकल्प का चयन करना होगा बता दें कि इस परीक्षा में आप से 200 अंकों के प्रश्न पूछे जाएंगे

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

वैसे अभ्यार्थी जो प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाते हैं केवल उन्हें ही मुख्य परीक्षा देने की अनुमति मिलती है इस परीक्षा में 6 प्रश्न पत्र होते हैं जो 1400 अंकों के होते हैं बता दूं कि इस परीक्षा में अभ्यार्थियों से सामान्य ज्ञान के अलावा गणित रिजनिंग इतिहास समाचार भूगोल आपदा प्रबंधन अंग्रेजी तथा हिंदी विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे

साक्षात्कार (Interview)

इस परीक्षा में वहीं अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं जो पिछले दो परीक्षा जाने की प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में सफल हो पाते हैं यह चरण काफी मुश्किल होता है क्योंकि इसमें अभ्यार्थियों से कुछ ऐसे टेढ़ी-मेढ़ी सवाल पूछे जाते हैं जिससे अभ्यार्थी कंफ्यूज हो जाते हैं यहां अभ्यार्थियों के आत्मविश्वास को परखा जाता है और उनके निर्णय लेने की क्षमता को भी देखा जाता है तथा कुछ सवालात विद्यार्थियों के विषय से संबंधित भी पूछे जाते हैं

PSC के लिए योग्यता

PSC के परीक्षा में वहीं अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं जो किसी मान्यता प्राप्त  यूनिवर्सिटी से  ग्रेजुएशन की डिग्री  प्राप्त कर ली है  यदि अभ्यर्थी  ग्रेजुएशन  में पास नहीं होता है तो उसे इस परीक्षा के लिए योग्य नहीं माना जाएगा इसके अलावा इस परीक्षा में उम्र की भी काफी महत्व दिया गया है  बता दूं कि यदि अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 35 वर्ष है तभी वह अभ्यर्थी इस परीक्षा में बैठने के लिए योग्य होगा 

लोक सेवा आयोग के सदस्यों के लिए देय वेतन,भत्ते ओर पेंशन

 राज्य लोक सेवा आयोग के सदस्यों का वेतन भत्ता और पेंशन राज्य की संचित निधि पर भारित होता है पता विधानमंडल में इस पर वोटिंग नहीं किया जा सकता सभी राज्य का वेतन भत्ता और पेंशन अलग-अलग किया हुआ है

 

PCS की परीक्षा (PCS Exam)

अभी-अभी लोक सेवा आयोग (public service Commission) ने कुछ Exam बढ़ाये है जो आप नीचे देख सकते हैं

  • Indian Forest Service Examination
  • Civil Services (Main) Examination
  • Civil Services (Preliminary) Examination
  • Engineering Services Examination
  • Special class railway trainee exam
  • Combined Medical Services Examination
  • Combined Defense Services Examination
  • Geologist exam

PSC Exam के बाद JOB PROFILE

  • CDPO
  • DSP
  • SDO
  • District Development Officer
  • Commercial tax officer
  • Chief Development Officer
  • Village Development Officer

भारत में लोक सेवा आयोग

👉 Manipur Public Service Commission

👉 Union Public Service Commission

👉 Andhra Pradesh Public Service Commission

👉 Uttarakhand Public Service Commission

👉 Arunachal Pradesh Public Service Commission

👉 Bihar Public Service Commission

👉 Chhattisgarh Public Service Commission

👉 Goa Public Service Commission

Gujarat Public Service Commission 

Haryana Public Service Commission

👉 Assam Public Service Commission

👉 Himachal Pradesh Public Service Commission Jammu & Kash Public Service Commiss Jharkhand Public Service Commission

👉 Karnataka Public Service Commission

👉 Kerala Public Service Commission

👉 Madhya Pradesh Public Service Commission

👉 Maharashtra Public Service Commission 

👉 Meghalaya Public Service Commission 

👉 Mizoram Public Service Commission

👉 Nagaland Public Service Commission

👉 Odisha Public Service Commission

👉 Public Service Commission, West Bengal

👉 Punjab Public Service Commission

👉 Tripura Public Service Commission

👉 Rajasthan Public Service Commission

👉 Sikkim Public Service Commission

👉 Tamil Nadu Public Service Commission

👉 Telangana state Public Service Commission

👉 Uttar Pradesh Public Service Commission

PSC की History

  संविधान के 14 वे हिस्से में अनुच्छेद 315 से 323 में राज्य लोकसेवा यानी पीएससी आयोग की शक्तियों व स्वतंत्रता के अलावा इसके गठन और सदस्यों की नियुक्ति व पद मुक्ति इत्यादि का प्रावधान किया गया है भारतीय संविधान के आर्टिकल नंबर 316 के अनुसार राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष व सदस्यों की नियुक्ति राज्यपाल के जरिए की जाएगी राज्य लोक सेवा आयोग किस सदस्य और अन्य अध्यक्ष का कार्यकाल 6 वर्षों के लिए होता है लेकिन अवकाश के अधिकतम 62 वर्ष रखी गई है लेकिन पीएससी के अध्यक्ष या सदस्य राज्यपाल को अपना रिजर्वेशन लेटर देकर पद मुक्त हो सकते हैं इसके अलावा हर एक राज्य में एक लोक सेवा आयोग होता है यह संघ लोक सेवा आयोग की ही तरह कार्य करता है राज्य लोक सेवा आयोग भी भारतीय संविधान के अंतर्गत ही कार्य करते हैं लेकिन इनकी कार्यप्रणाली संघ लोक सेवा आयोग की तेरा ही होती है

अंतिम शब्द

मुझे उम्मीद है कि आपको आजकल आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हुआ होगा यह  यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को राज्य संघ लोक सेवा की जानकारी प्राप्त हो सके 

1 thought on “PSC का फुल फॉर्म क्या है | PSC Full Form in Hindi”

Leave a Comment